इंदौरग्वालियरजबलपुरभोपालमध्य प्रदेशराजनीतिकराज्य

प्रभारी मंत्री का बयान: जरूरत पड़ी तो मोखा की संपत्ति भी राजसात की जाएगी

नकली इंजेक्शन प्रकरण के आरोपी नर-पिशाच है, छोड़ा नहीं जाएगा

जबलपुर, यशभारत। शहर पहुंचे सहकारिता और जबलपुर प्रभारी डॉ. अरविंद भदोरिया ने कहा नकली इंजेक्शन प्रकरण के आरोपी नर-पिशाच है जो मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद बोल चुकें हैं। ऐसे लोगों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।
एक सवाल के जवाब पर प्रभारी मंत्री ने दो टूक कहा कि जरूरत पड़ी तो आरोपी सिटी अस्पताल के संचालक सरबजीत सिंह मोखा की संपत्ति भी राजसात की जाएगी।

प्रभारी मंत्री ने कहा कि मप्र सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी पूरी तरह से कर ली है। कहीं कोई चूक नहीं होगी। प्रभारी मंत्री ने ब्लेक फंगस को लेकर भी कहा कि अस्पतालों में पर्याप्त बैड हो मरीज को व्यवस्थित इलाज मिले इसकी जानकारी ली जा रही है। अधिकारियों को इस संबंध में दिशा-निर्देश भी जारी किए गए हैं।

प्रभारी डॉ. अरविंद भदोरिया

जबलपुर प्रशासन और जनप्रतिनिधियों को धन्यवाद देता हूं
प्रभारी मंत्री डॉ. अरविंद भदौरिया ने कोरोना की समीक्षा करने बाद बाहर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश के सभी जिलों में जबलपुर अकेला ऐसा जिला है जहां पर सबसे पहले कोरोना रिकवरी रेट और पॉजीटिव रेट कम आया है। जबलपुर का जिला प्रशासन और यहां के जनप्रतिनिधियों ने एक जुटता से काम किया है। सभी को धन्यवाद देता हूं।

कोरोना कर्फ्यू समाधान नहीं है चैन को तोड़ना है
प्रभारी मंत्री डॉ. अरविंद भदौरिया ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए उसकी चैन को तोड़ना होगा। कोरोना कर्फ्यू लगाने अकेले से कोरोना रूकेगा नहीं। आज अनेक क्षेत्रों में जाऊंगा वहां पर कोरोना की चैन कैसी तोड़ी जाए अधिकारियों व स्थानीय जनप्रतिनिधियों से चर्चा करूंगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन लोगों को राहत दी है जिनका कोरोना काल में कोई नहीं है उन्हें 5 हजार रूपए महिने, जीवन भर की पढ़ाई की व्यवस्था की गई है। सहकारिता विभाग के कर्मचारियों को भी कोरोना से मौत होने पर 5-5 लाख रूपए दिए जाएंगे।

कमलनाथ खोले हनी ट्रेप का मामला
प्रभारी मंत्री डॉ. अरविंद भदौरिया ने कांग्रेस सरकार के पूर्व मंत्री और विधायक उमंग सिंघार पर उनकी गर्लफ्रेंड सोनिया भारद्वाज की सुसाइड मामले में कहा कि उमंग सिंघार नहीं पूरी कांग्रेस का ये ट्रेक रिकार्ड रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की परंपरा रही है जिसका उदाहरण सरला मिश्रा, नैना साहनी, हेमंत कटारे, अंशु सिंह पत्रकार की आत्महत्या है। प्रभारी मंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के उस बयान पर कड़ी निंदा की है जिसमें उन्होंने कहा कि हनी ट्रेप के मामले के सबूत उनके पास है। प्रभारी मंत्री ने कहा कि कमलनाथ ऐेसे बयान देकर दबाव बनाना चाहते हैं अगर उनके हनीट्रेप मामले के सबूत है तो वह सबके सामने लाए, मीडिया से भी बात करें। ऐसे सभी लोगों को सजा मिलेंगी। बेहतर होगा कि कांग्रेस इस मामले में कानून को अपना काम  करने दें।
Ñ

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button