बिहारराज्य

प्रतिष्ठान और मंडियां शाम 6 बजे तक ही खुलेंगी, सरकारी-निजी दफ्तर 5 बजे बंद

पटना 
                                                    
बिहार में अब अब सभी दुकानें, प्रतिष्ठान, फल एवं सब्जी की मंडी, मांस-मछली की दुकानें अब शाम छह बजे तक ही खुलेंगी। अभी तक इन्हें शाम सात बजे तक खोले जाने की इजाजत थी। हालांकि दुकानदार सुबह में जब भी चाहें दुकानें खोल सकते हैं। 15 मई तक के लिये नये नियम लागू किये गये हैं। गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण की बढ़ती  रफ्तार को देखते हुए यह सख्ती लगाई गई है।

वहीं राज्य के सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय अब पांच बजे तक ही खुलेंगे। पहले छह बजे तक खोलने की इजाजत थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पहले ही तय कर दिया गया है कि एक दिन में 33 प्रतिशत कर्मचारी ही कार्यालय आ सकेंगे।

बिहार में रात नौ से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू  रहेगा। हालांकि यह प्रतिबंध बस, हवाई और रेलयात्रियों पर लागू नहीं रहेगा। वहीं अब सभी दुकानें, प्रतिष्ठान, फल व सब्जी मंडी, मांस-मछली की दुकानें अब शाम छह बजे तक ही खुलेंगी। अभी तक इन्हें शाम सात बजे तक खोलने की इजाजत थी। सुबह में जब भी चाहें दुकानें खोल सकते हैं। 15 मई तक के लिए नए नियम लागू किए गए हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को छह घंटे की अहम बैठक के बाद कोरोना से बचाव को लेकर कई एहतियाती कदम उठाए जाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अंतरराज्यीय तथा अंतरजिला सार्वजनिक परिवहन पर कोई रोक नहीं होगी। गौरतलब है सार्वजनिक वाहनों के लिए पहले से 50 फीसदी यात्री के साथ सफर करने की अनिवार्यता लागू है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहा कि आज जो निर्णय लिए गए हैं, वे अभी की स्थिति को देखते हुए लिये गए हैं। सभी जिलों के डीएम-एसपी से स्थिति की जानकारी ली गई है। सीएम ने कहा कि हमलोगों ने फैसला लिया है कि शहर हो या गांव जहां भी कोरोना मरीज मिलेंगे, उस क्षेत्र को पिछले साल की भांति कंटेनमेंट जोन बनाएंगे। इस साल अभी तक माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनते थे। कंटेनमेंट जोन में जांच, इलाज आदि की पूरी व्यवस्था रहेगी। खासकर होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों की हर तरह से निगरानी की जाएगी। वहीं, अनुमंडल स्तर पर क्वारंटाइन सेंटर बनेंगे। सीएम ने यह भी कहा कि राज्य के सभी धार्मिक स्थल 15 मई तक बंद रहेंगे। सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी तरह के आयोजन नहीं होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button