ग्वालियरजबलपुरभोपालमध्य प्रदेशराज्य

पुलिस को फेसबुक आईडी में दी धमकियाँ और की अभद्रता : पुलिस ने आरोपी को पकड़ा तो निकला नाबालिक, कहा- किसी ने बनाई क्लोन आईडी

यश भारत ग्वालियर |  ग्वालियर पुलिस को फेसबुक आईडी से गालियां और धमकियां दी गईं। पोस्ट करने वाले ने लिखा, ‘गट्टे भाई अब चिंता मत करना, मैं आ गया हूं, ग्वालियर पुलिस मेरा क्या उखाड़ लेगी।’ गोला का मंदिर पुलिस ने आईपी एड्रेस ट्रेस कर आरोपी को पकड़ा तो वह नाबालिग निकला।नाबालिग का कहना है कि किसी ने उसकी आईडी हैक कर क्लोन आईडी बनाई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

बता दें, गट्टे नाम के युवक को पुलिस ने 3 दिन पहले ही नाबालिग छात्रा से छेड़खानी और उसके घर आधी रात को पथराव करने के आरोप में पकड़ा है।पुलिस को चुनौती देने वाला मैसेज पुलिस कप्तान धर्मवीर सिंह तक पहुंचा था।

 

एफबी पर किए गए पोस्ट के कमेंट में एक यूजर ने कमेंट किया, ‘अरे, ऐसे खुलेआम सोशल मीडिया पर पुलिस के बारे में क्यों लिख रहा है।’ इस पर उसने जवाब में लिखा, ‘क्या उखाड़ लेगी ग्वालियर पुलिस।’सोमवार को यह पोस्ट पुलिस कप्तान धर्मवीर सिंह तक पहुंची। उन्होंने जांच के आदेश दिए तो गोला का मंदिर थाना पुलिस सोमवार दोपहर नाबालिग के घर पहुंच गई। उसे थाने लाकर पूछताछ की गई। 14 साल के नाबालिग से यह तो पता चला कि वह उन आरोपियों का दोस्त है, जो तीन दिन पहले छेड़छाड़-पथराव के मामले में पकड़े गए हैं। लेकिन, उसका कहना है कि उसने यह पोस्ट नहीं की है।

 

दरअसल ग्वालियर के गोला मंदिर थाना क्षेत्र में रहने वाली 16 साल की छात्रा मनचलों से परेशान है। कुछ दिन से कृष्णा नाम का लड़का उसका लगातार पीछा कर रहा था। उसने नजर अंदाज किया तो लड़के की हिम्मत बढ़ गई। उसने एक दिन सड़क पर छात्रा का हाथ पकड़ लिया और दोस्ती करने का दबाव बनाने लगा।

 

छात्रा ने इनकार किया और तो लड़का इतना नाराज हो गया कि उसने अपने साथियों के साथ लड़की के घर पर पत्थर फेंक दिए। पहली घटना 18-19 जून की दरमियानीरात की थी। इसके बाद अगले दिन फिर पत्थर फेंके। छात्रा अपने परिजन के साथ पुलिस थाने पहुंची और उस लड़के और उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया। पुलिस को घटना स्थल से एक CCTV कैमरे का फुटेज मिला था। जिसमें बाइक सवार 3 युवक पत्थर फेंकते नजर आ रहे थे। इसके बाद पुलिस ने कृष्णा व उसके तीन अन्य साथियों को गिरफ्तार किया था।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button