जबलपुरमध्य प्रदेश

पनागर हत्याकांड का खुलासा :बाप की सेवा से बचने कलियुगी बेटा बन गया हैवान, चेहरे को चाकु से गोद, गले को पैरों तले घोंटकर उतारा था मौत के घाट

 

जबलपुर, यशभारत। थाना पनागर में पिछले माह हुई अंधी हत्या की गुत्थी सुलझाते हुए पुलिस ने कलियुगी बेटे को दबोच लिया है। दरअसल पिता मानसिक कमजोर था और घर में कहीं भी मल-मूत्र कर देता था। जिसकी सेवा से बचने के लिए हैवान बेटे ने बीच रास्ते पहले तो पिता के चेहरे को चाकुओं से गोदा और फिर गले में पैर रखकर उसे मौत के घाट उतार दिया। पकड़े गए बेटे से पुलिस पूछताछ जारी है।

जानकारी अनुसार 26 नवम्बर 2022 को ग्राम कसही में हत्या होने की सूचना पर थाना प्रभारी पनागर विजय अम्भोरे स्टाफ के साथ ग्राम कसही पहुंचे जहॉ गुड्डीबाई प्रजापति 48 वर्ष निवासी ग्राम कसही थाना पनागर ने बताया था कि वह मजदूरी करती है तथा उसके पति मुन्नालाल प्रजापति 55 वर्ष मड़ई रांझी में गुप्ता ट्रेडर्स में काम करते है। वह एवं उसके पति मुन्नालाल रजक मजदूरी के लिये घर से निकले थे, ग्राम झुरझुरू पुल तक वह और पति साथ में गये वहां से वह ग्राम झुरझुरू में गौरव शर्मा की साईट में ठेकेदार वीरेन्द्र महोबिया के साथ काम करने चली गयी और उसके पति पैदल-पैदल मडई रांझी चले गये । वह शाम को अपने साथ काम करने वाले गांव के मजदूर राहुल गोड़ के साथ बाइक में बैठकर वापस घर आ रही थी तभी रास्ते में उसके पति पड़े मिले, जो लहूलुहान थे। वह पति को घर लेकर पहुंची लेकिन तब तक वह दम तोड़ चुके थे।

पुलिस को हुआ शक तो सुलझ गयी मौत की गुत्थी
घटना के बाद गठित टीम को पता चला कि मृतक मुन्नालाल एवं बेटे बृजेन्द्र प्रजापति का आये दिन घर में वाद विवाद होता रहता था, बेटा ब्रजेन्द्र जो ड्राईवरी करता है ने पूछताछ पर बताया कि वह पारले फैक्ट्री रिछाई से माल लोड कर छिंदवाडा जा रहा था, भेड़ाघाट के पास सूचना मिलने पर वह वाहन रोड किनारे खड़ा कर वापस पहुंचा था, जबकि पुलिस पड़ताल में ज्ञात हुआ कि उसी दिन ब्रजेन्द्र के वाहन में ग्राम निपनिया में डीजे लोड हो रहा था, ब्रजेन्द्र 2 घंटे निपनिया गॉवा से गायब था। शंका होने पर मृतक मुन्नालाल के पुत्र बृजेन्द्र प्रजापति उर्फ बिज्जू को अभिरक्षा में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो ब्रजेन्द्र ने बताया कि उसका पिता मुन्नालाल प्रजापति मानसिक रूप से कमजोर था एवं घर में खाना खाते या सोते-उठते समय अचानक लैट्रिन बांथरूम कर लेता था जो उसे ही साफ सफ ाई करनी पड़ती थी। जिससे परेशान होकर करीब एक महीने से ही पिता की हत्या करने का मन बना लिया था । घटना दिनांक को उसके पिता मुन्नालाल रांझी से काम करके लौट रहा था, रास्ते मे नहर किनारे मौका पाकर उसने पहले पिता मुन्नालाल के चेहरे पर चाकू से वार किया , पिता मुन्नालाल के जमीन पर गिर जाने पर पैर से गला दबाकर पिता की हत्या कर दी थी।

आरोपी बेटे की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त चाकू व घटना के वक्त पहने कपड़े, जूते जप्त करते हुये आरोपी बिज्जू उर्फ बृजेश प्रजापति को प्रकरण में विधिवत गिरफ्तार कर मान्नीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button