जबलपुरमध्य प्रदेश

निजी अस्पतालों पर कसा शिकंजा: कलेक्टर द्वारा गठित 5 सदस्यीय टीम ने दो शिकायतों का किया निराकरण

ज्यादा बिल लेने को लेकर की गई थी शिकायत

जबलपुर, यशभारत। कोरोना मरीजों के उपचार से संबंधित निजी अस्पतालों के बारे में मिल रही शिकायतों पर कार्यवाही करने कलेक्ट कर्मवीर शर्मा द्वारा गठित जिला स्तरीय समिति द्वारा दो आवेदकों को राहत प्रदान की गई है। दोनों शिकायतें अस्पतालों द्वारा उपचार के दिये गये बिलों से जुड़ी थी।
जिला स्तरीय जांच समिति के अध्यक्ष संयुक्त कलेक्टर शाहिद खान के अनुसार प्राप्त शिकायतों में एक शिकायत आशीष कुमार सिंह की थी। आशीष की शिकायत राइट टाउन स्थित लाइफ केयर आईसीयू पीजी हॉस्पिटल द्वारा मां के कोरोना के उपचार के लिए थमाये गये बिल को लेकर थी। आवेदक ने बताया कि मां के 11 दिन चले उपचार का अस्पताल द्वारा 3 लाख 88 हजार 298 रुपये का बिल दिया गया है

जो शासन द्वारा निर्धारित दर से कहीं अधिक है। जांच समिति द्वारा शिकायत का परीक्षण किया गया और अस्पताल प्रबंधन से चर्चा कर कुल बिल में से 1 लाख 10 हजार 900 रुपये कम कराये गये। इसी तरह अधारताल स्थित मेडिकल स्टोर्स के 2 लाख 88 हजार 700 रुपये दवाओं के बिल में से दस प्रतिशत राशि कम कराई गई। आवेदक को सूचित कर दिया गया है यह राशि जल्दी ही चेक से अस्पताल द्वारा उसे वापस की जा रही है।

संयुक्त कलेक्टर शाहीद खान ने बताया कि एक दूसरी शिकायत में आवेदक अनिल समैया द्वारा उसके परिजन के मार्बल सिटी अस्पताल में कोरोना के हुए इलाज को लेकर थी। शिकायतकर्ता ने बताया कि कोरोना के उपचार के दौरान परिजन की मौत हो गई थी और अस्पताल प्रबंधन द्वारा बकाया बिल की राशि नहीं चुकाने पर मृत्यु प्रमाण-पत्र एवं अन्य दस्तावेज रोक लिये गये हैं। समिति ने इस शिकायत का परीक्षण और जांच के बाद अस्पताल प्रबंधन को बकाया राशि छोड़ने के निर्देश दिये साथ ही शिकायतकर्ता को परिजन की मृत्यु का प्रमाण-पत्र एवं दस्तावेज उपलब्ध कराये गये।

कलेक्ट्रेट कंट्रोल रूम से कर सकते हैं शिकायत
जबलपुर – आयुष्मान योजना के पात्र हितग्राही को यदि निजी अस्पतालों में कोरोना के उपचार को लेकर कोई कठिनाई आती है तो वे इसकी शिकायत कलेक्ट्रेट स्थित कंट्रोल रूम के दूरभाष क्रमांक 0761 2623925 पर कर सकते हैं। ज्ञात हो कि राज्य शासन द्वारा आयुष्मान योजना के पात्र व्यक्तियों को निजी अस्पताल में कोरोना का नि:शुल्क उपचार उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button