देश

नवरात्रि का उपवास रखने के बावजूद सोमवार को पीएम मोदी की मैराथन बैठकों का दौर जारी रहा

 नई दिल्ली 
कोरोना की बेलगाम दूसरी लहर को नियंत्रित करने के लिए पीएम मोदी का सोमवार का दिन बैठकों और रणनीति बनाने में ही बीता। नौ दिन नवरात्रि का उपवास रखने के बावजूद सोमवार को पीएम मोदी की मैराथन बैठकों का दौर जारी रहा। इसी दौरान उन्होंने बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं संग बंगाल चुनाव को लेकर भी चर्चा की और फिर शाम आते-आते यह निर्णय लिया गया कि देश में एक मई से 18 साल से ऊपर सभी को कोरोना टीका दिया जाएगा। यह सब तब जब सोमवार को पीएम मोदी के उपवास का सातवां दिन था। सोमवार को सबसे पहले पीएम मोदी ने देश में चल रहे टीकाकरण अभियान की समीक्षा की। देश में तेजी से बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए वैक्सीनेशन में तेजी लाने के लिए जरूरी कदमों पर जोर दिया गया। इसके बाद पीएम मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कोरोना संक्रमण की स्थिति को लेकर बातचीत की। 

बंगाल में रैलियों की क्षमता कम करने का निर्णय
इसके बाद पीएम मोदी ने बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं संग बैठक की और बंगाल में आगे के चुनाव प्रचार की रणनीति पर चर्चा की। इसी बैठक में यह निर्णय लिया गया कि अब बीजेपी की रैलियों में 500 से ज्यादा लोग नहीं आ सकेंगे। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और कोविड के अन्य नियमों का कड़ाई से पालन किया जाएगा। शाम में पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश के टॉप डॉक्टरों के साथ चर्चा की। और फिर उन्होंने फार्मा कंपनियों के साथ विस्तृत बैठक की। नसे दवाइयों, आवश्यक इंजेक्शन व अन्य जरूरी मेडिकल एड की त्वरित आपूर्ति की जानकारी ली। हर तरह से उत्पादन बढ़ाने में सहयोग का आश्वासन दिया।

इन्फ्रास्ट्रक्चर की समीक्षा की
फार्मा कंपनियों से वार्ता के बाद पीएम मोदी ने महामारी में बचाव के लिए राज्यों में उपलब्ध ऑक्सीजन सप्लाई, दवाओं, इंजेक्शन की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली। 

आईसीयू और बेड बढ़ाने पर विचार
इसके बाद पीएम मोदी ने एक और बैठक की जिसमें उन्होंने कोरोना की रफ्तार को देखते हुए अस्पतालों में आईसीयू और बेड्स की क्षमता बढ़ाने पर विचार-विमर्श किया। इसके अलावा उन्होंने बीजेपी कार्यकर्ताओं से सेवा भाव से लोगों की मदद के लिए आगे आने की अपील की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button