जबलपुरमध्य प्रदेश

नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन कांड: सिटी अस्पताल में भर्ती हुए 460 मरीजों की सूची तैयार, पुलिस घर-घर जाकर पूछताछ में जुटी

एसआईटी टीम की जांच अंतिम दौर पर अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ मिले पुख्ता सबूत

जबलपुर, यशभारत। नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन कांड के मुख्य आरोपी और सिटी अस्पताल के संचालक सरबजीत सिंह मोखा के खिलाफ केस पुख्ता बनाने के लिए एसआईटी की टीम जुटी हुई हैं। इसी बीच एक अहम जानकारी सामने आ रही है। एसआईटी टीम ने सिटी अस्पताल में भर्ती हुए 460 मरीजों की सूची तैयार की है। संबंधित सूची को एसआईटी की अलग-अलग टीम को सौंप दिया गया और टीम के सदस्यों ने भी सूची के हिसाब से घर-घर जाकर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

घर-घर पहुंच रही टीमें
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार एसआईटी की टीम जबलपुर सहित आसपास के जिलों में दबिश दे रही है। पुलिस उन मरीजों के घर पहुंच रही है जो नकली इंजेक्शन कांड सामने आने के पहले अस्पताल में भर्ती थे। पुलिस का अलग-अलग दल पूछताछ कर रहा है। इस पूरे में पुलिस सिलसिलेवार जानकारी एकत्रित कर रही है।

पुलिस की जांच अंतिम छोर पर
सिटी अस्पताल संचालक सरबजीत सिंह मोखा और उसके अस्पताल प्रबंधन के स्टाफ ने नकली इंजेक्शन के गोरखधंधे को किस तरह से अंजाम दिया इसका सिलसिलेवार पुलिस करने वाली है। पुलिस अपनी जांच पड़ताल में अंतिम छोर पर है। कयास लगाए जा रहे हैं कि पुलिस जल्द ही इस प्रकरण में पुख्ता सबूत के साथ खुलासा करेगी।

ओमती सीएसपी पॉजीटिव हुए
नकली इंजेक्शन प्रकरण में गठित एसआईटी के प्रमुख ओमती सीएसपी आरडी भारद्धाज कोरोना पॉजीटिव हो गए हैं। उल्लेखनीय है कि सीएसपी लगातार इस मामले में सबूत जुटाने में लगे हैं। इस पूरे में कड़ी से कड़ी जोड़ने का प्रयास सीएसपी ओमती कर रहे हैं।

 

इनका कहना है
18 सदस्यीय टीम जांच कर रही है, लगातार इस मामले में जांच जारी है। आरोपी के दोस्त-परिजनों से भी पूछताछ जारी है।अस्पताल प्रबंधन में जाकर जांच टीम ने दस्तावेज जप्त किए हैं। सरबजीत सिंह मोखा की तबीयत ठीक नहीं है उसकी तबीयत ठीक होते ही उसे रिमांड में लिया जाएगा।
रोहित केशवानी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button