जबलपुरमध्य प्रदेश

नकली इंजेक्शन मामला: मोखा की पत्नी मैनेजर की 20 तक पुलिस को मिली रिमांड

मैनेजर और पत्नी ने ठिकाने लगाए थे नकली इंजेक्शन

जबलपुर, यशभारत। नकली इंजेक्शन मामले के मुख्य आरोपी और सिटी अस्पताल के संचालक सरबजीत सिंह मोखा और उसके परिवार पर पुलिस ने पूरी तरह से शिकंजा कस लिया है। सोमवार को देरशाम गिरफ्तार हुई सरबजीत सिंह मोखा की पत्नी जसमीत मोखा और अस्पताल की मैनेजर सोनिया खत्री शुक्ला से एसआईटी टीम रिमांड लेकर पूछताछ करेगी। 20 मई तक की रिमांड की स्वीकृति मिली है। इधर फर्जी आर्डडी देने के आरोप में फरार चल रहे मोखा के बड़े बेटे की तालाश में पुलिस ने शहर के कई स्थानों में दबिश दी है साथ ही अन्य जिलों में बेटे को ढूढने के लिए टीम गई हुई हैं।

मैनेजर और पत्नी ने ठिकाने लगाए थे नकली इंजेक्शन
एसआईटी की जांच पड़ताल में प्रारंभिक तौर सामने आया है कि सरबजीत सिंह मोखा की पत्नी और मैनेजर ने ही नकली इंजेक्शनों को ठिकाने लगाया है। बताया जा रहा है कि अस्पताल में भर्ती कुछ मरीजों को नकली इंजेक्शन पहले लगाए चुकें थे परंतु इस बात की जानकारी जब मोखा तक पहुंची तो उसने नकली इंजेक्शनों को ठिकाने लगवा दिया।

पूछताछ करेगी एसआईटी
साक्ष्य छुपाने में सोमवार को देररात गिरफ्तार हुई मोखा की पत्नी और अस्पताल की मैनेजर से पूछताछ करने के लिए एसआईटी की टीम रिमांड में लेगी। इसके लिए टीम ने कोर्ट में आवेदन देने लिए तैयार कर लिया है।

बेटे को गिरफ्तार करने दबिश
बताया जा रहा है कि एसआईटी की टीम जबलपुर सहित अन्य जिलों में दबिश दे रही है। मोखा से जुड़े लोगों से लगातार पूछताछ जारी है, सभी के बयान लिए जा रहे हैं। संभवत: फरार बेटा एक या दो दिन में एसआईटी टीम के गिरफ्त में होगा।

कहां-कहां ठिकाने लगाए गए इंजेक्शन जांच में जुटी एसआईटी
मोखा की पत्नी और मैनेजर ने नकली इंजेक्शन को कहां-कहां ठिकाने लगाया हैं। इसकी पतासाजी करने में एसआईटी की टीम जुट गई है। एसआईटी टीम को मोखा घर से और आॅफिस से दो बरामद हुए हैं जिसमें नकली इंजेक्शन पाए गए हैं।

मरीजों को लगे इंजेक्शन की जांच करेगी मेडिकल टीम
बताया जा रहा है कि इस मामले में मेडिकल की एक टीम जांच करेगी। दरअसल जिन मरीजों को नकली इंजेक्शन लगे हैं उनके परिजनों ने शिकायत की है कि मरीज को एलर्जी के साथ मौत हुई है। इस पर एक मेडिकल की टीम गठित की गई है जो जांच करेगी। इसके अलावा इस मामले में ड्रग एक्ट की धारा 5/13 बढ़ाई गई है।

 

इनका कहना है
नकली इंजेक्शन प्रकरण में जांच पड़ताल जारी है। मोखा की पत्नी और मैनेजर से पूछताछ करने के लिए रिमांड में लिया जाएगा जिसकी प्रक्रिया चल रही है। फरार बेटे की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी की टीम लगातार कई स्थानों पर दबिश दे रही है। जल्द ही बेटे गिरफ्तार होगा।
रोहित कशवानी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button