जबलपुरमध्य प्रदेश

धोखा खाए पति ने प्रेमी की कर दी हत्या:बेटी की तबीयत खराब होने की बात कह भोपाल से पत्नी और उसके प्रेमी को बुलाया

यशभारत संवाददाता, जबलपुर। बेटी की बीमारी की बात कह धोखे से पत्नी और उसके प्रेमी को भोपाल से जबलपुर बुलाया। यहां मुख्य स्टेशन के पास की प्रकाश रेलवे कॉलोनी में ले जाकर पत्नी के प्रेमी की बेरहमी से हत्या कर दी। आरोपी ने चाकू से गर्दन व पेट में ताबड़तोड़ वार कर काम तमाम कर दिया। वहां से पत्नी के पास पहुंचा और उसे लात मारकर फरार हो गया।

नौ महीने पहले आरोपी की पत्नी उसे और तीन बच्चों को छोड़कर प्रेमी संग भोपाल भाग गई थी। सिविल लाइंस पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया है।

मांडवा टेंटर टूर सामुदायिक भवन के पास गोरखपुर में रहने वाली नीतू जाटव (47) की शादी 2001 में रामप्रसाद जाटव के साथ हुआ था। उनके तीन बच्चे हैं। एक बेटी व दो बेटे हैं। उनके ही मोहल्ले में राजू ठाकुर भी रहता था। रामप्रसाद पत्नी नीतू पर संदेह करता था कि उसके संबंध राजू से हैं। इसे लेकर वह अक्सर उसके साथ मारपीट करता रहता था।

नौ महीने पहले पति व बच्चों को छोड़कर चली गई थी नीतू
नौ महीने पहले नीतू पत्नी व तीनों बच्चों को छोड़कर राजू ठाकुर के साथ भोपाल भाग गई। वहां दोनों छोटा तालाब कुम्हार मोहल्ला भोपाल में रहकर मजदूरी करने लगे थे। इधर, रामप्रसाद लगातार राजू ठाकुर के मोबाइल पर फोन करता रहता था। कुछ दिन पहले उसने राजू को फोन कर बताया कि उसकी बेटी की तबीयत खराब है। एक बार नीतू को लेकर आ जाओ, दिखाकर चले जाना। राजू ने नीतू से इसके बारे में बात की तो वह भी बेटी काे लेकर परेशान हो गई।

शनिवार रात को भोपाल से आते ही कर दी हत्या
नीतू और उसका प्रेमी राजू ठाकुर भोपाल से शाम 5.40 बजे की ट्रेन से जबलपुर के लिए निकले थे। रास्ते भर रामप्रसाद उनका लोकेशन लेता रहा। ट्रेन के स्टेशन पहुंचने पर रामप्रसाद भी प्लेटफार्म नंबर पांच पर पहुंच गया। नीतू के मुताबिक रामप्रसाद बोला कि चलो तुम्हें लेने आया हूं। दोनों उसके साथ सामान लेकर पैदल चलने लगे। आगे अंकित होटल के पास पुरानी प्रकाश रेलवे कॉलोनी ले गया।
दिन में ही रेकी कर रखा था
रामप्रसाद मांडवा बस्ती में रहने से पहले प्रकाश रेलवे कॉलोनी में ही रहता था। उसने नीतू से कहा कि सामान लेकर यहीं पर खड़ी रहो, पुराने कमरे के पास उसने बाइक खड़ी की है। राजू ठाकुर को लेकर वह चला गया। 10 मिनट बाद बाइक से अकेला लौटा। राजू के बारे में बताया कि मैंने उसका काम-तमाम कर दिया हूं। इसके बाद नीतू को लात मारकर गिरा दिया और बाइक लेकर भाग गया।

नीतू चीखते हुए पहुंची तो राजू खून से लथपथ मृत पड़ा था
नीतू वहां से दौड़कर घटनास्थल पर पहुंची। वहां राजू खून से लथपथ हालत में मृत पड़ा था। उसके पेट व गर्दन पर चाकू के धारदार वार के निशान थे। वह चिल्लाते हुए बाहर निकली। वहां पास में रहने वाला मोनू कुंचबंधिया भी चीख सुनकर पहुंचा। मामला समझते ही उसने तत्काल सिविल लाइंस पुलिस को खबर दी। टीआई धीरज राज के मुताबिक नीतू की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ हत्या का प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button