मनोरंजन

तारक मेहता का उल्टा चश्मा फेम मुनमुन दत्ता के खिलाफ FIR दर्ज, वीडियो में जातिवादी गाली का इस्तेमाल किया था

इंडियन टीवी सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा की बबीता जी यानी मुनमुन दत्ता को अब कानूनी मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है। उनके खिलाफ हरियाणा के हिसार में FIR दर्ज की गई है। उन्होंने अपने एक वीडियो में जातिसुचक गाली का इस्तेमाल किया था। हालांकि, बाद में उन्होंने यब वीडियो डिलीट कर दिया था और अपनी गलती के लिए माफी भी मांगी थी। रजत कलसन नाम के एक वकील ने मुनमुन के खिलाफ FIR की कॉपी ट्विटर पर शेयर की है।

 

 

मेकअप ट्यूटोरियल का वीडियो बना आफत

मुनमुन दत्ता ने हाल ही में अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया था। इसमें वो अपने फैंस को मेकअप के बारे में बता रही थी। इस दौरान उन्होंने जातिसूचक गाली का इस्तेमाल किया था। उन्होंने कहा था “लिप टिंट को हल्का सा ब्लश की तरह लगा लिया है, क्योंकि मैं यूट्यूब पर आने वाली हूं और मैं अच्छा दिखना चाहती हूं। भं* की तरह नहीं दिखना चाहती हूं।” इस शब्द का इस्तेमाल संवर्ण वर्ग के लोग 19वीं सदी में करते थे। मैला साफ करने वाले दलित लोगों के लिए यह शब्द इस्तेमाल होता था।

सोशल मीडिया पर माफी भी मांगी

अपने इस वीडियो को लेकर ट्रोल होने के बाद मुनमुन दत्ता ने माफी भी मांगी थी। उन्होंने लिखा था “मैंने कल एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसके एक शब्द का गलत मतलब निकाला जा रहा है। मैने इस शब्द का इस्तेमाल किसी की भावनाएं आहत करने के लिए या किसी का अपमान करने के लिए नहीं किया था। भाषा की समस्या के कारण मुझे इस शब्द का गलत मतलब पता था। जैसे ही मुझे इसका असली मतलब पता चला मैने वीडियो हटा दिया। जिस भी इंसान को मेरे इस शब्द से तकलीफ हुई है या जिसकी भी भावनाएं आहत हुई हैं। मैं उनसे माफी मांगना चाहती हूं।”

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

A post shared by 𝐌𝐔𝐍𝐌𝐔𝐍 𝐃𝐔𝐓𝐓𝐀 🧚🏻‍♀️🦋 (@mmoonstar)

 

 

 

 

सोशल मीडिया पर मुनमुन को गिरफ्तार करने की मांग

मुनमुन दत्ता का यह वीडियो सामने आने के बाद ट्विटर पर लोगों ने ‘अरेस्ट मुनमुन दत्ता’ नाम का हैसटैग ट्रेंड पर ला दिया था। एक यूजर ने लिखा कि मुनमुन दत्ता जैसी ऊंची जाति कि अभिनेत्रियां जातिसूचक शब्दों को बढ़ावा देती हैं। इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। यह गैर कानूनी है और उन्हें SC/ST एक्ट के तहत तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button