जबलपुरमध्य प्रदेश

जबलपुर में 50 लाख की धोखाधड़ी : ट्रेडिंग कंपनी में इनवेस्ट करने के नाम पर दर्जनों पीडि़तों के हड़पे रुपये…लाखों रुपये के प्रॉफिट का दिया था लालच

ओमती में मामला दर्ज, जांच में खुले राज

जबलपुर, यशभारत। जबलपुर में नटवरलालों की पूरी की पूरी गैंग का कच्चा चि_ा सामने आया है। जिसके बाद पुलिस महकमें के भी होश उड़ गए है। दरअसल ओमती थाने में मेडिकल एजेंसी में काम करने वाले एक पीडि़त ने अपने साथ हुई 20 लाख की धोखाधड़ी की शिकायत की। जिसमें आरोपियों ने स्वास्तिक इनवेस्टर मार्ट कंपनी में ट्रेडिंग के नाम पर रुपये हड़प लिए। प्रारंभिक जांच पड़ताल में अब दर्जनों पीडि़त सामने आ रहे है, जिसके बाद यह कयास लगाए जा रहे है कि नटवरलालों ने करीब अकेले शहर में ही 50 लाख रुपये हड़प कर रफूचक्कर हो गए है। जिसके बाद पुलिस अब बारीकी से आरोपियों की पड़ताल करने में जुट गयी है।

ओमती एसआई विपिन तिवारी ने पूरे मामले की जानकारी देते हुए बताया कि पेशे से मेडिकल एजेंसी में काम करने वाले आशुतोष तिवारी निवासी गढ़ा संजीवनी नगर ने रिपोर्ट दर्ज करवाई कि फरवरी 2022 में उनकी मुलाकात अभिषेक साहू और आनंद शुक्ला से हुई। दोनों ने भंवरताल गार्डन के सामने स्थित स्वास्तिक नइवेस्ट मार्ट कंपनी में ट्रेडिंग करने का हवाला देते हुए लाखों के प्रॉफिट का जिक्र किया।

कहा- जोखिम लो और बन जाओ मार्केट के सरताज

पीडि़त ने पुलिस को बताया कि दोनों ने उससे 20 लाख रुपये का कंपनी में इनवेस्ट करवाया और कहा कि जोखिम लो और बन जाओ मार्केट के सरताज। वह उनकी मीठी-मीठी बातों में आ गया।

चैक दिया लेकिन अकाउंट बंद मिला

शातिर आरोपियों ने बीस लाख रुपये लेकर एक 20 लाख का चेक दिया। जो गारंटी थी कि रकम डूबेगी नहीं। लेकिन इनवेस्ट करने के करीब पांच महिने बाद पता चला कि ऐसा कोई अकाउंट नहीं है। जो था वह तो दो महिने पहले ही बंद हो चुका है।

कंपनी ही नहीं थी

इतना ही नहीं पीडि़त को जब पता चला कि संबंधित चेक का बैंक खाता बंद हो चुका है तो वह हड़बड़ाकर कंपनी गया। लेकिन भंवरताल गार्डन के पास तो ऐसी कोई कंपनी ही नहीं थी। जिसके बाद उसे पता चला कि उसके साथ धोखेबाजी हुई है। पुलिस ने बताया कि मामले की जांच के दौरान चार पांच लोगा आए है , जिनके साथ भी शातिर आरोपियों ने धोखेबाजी की है। साथ ही पीडि़तों ने बताया कि दर्जनों लोग ऐसे है जिनके साथ यह गड़बड़झाला किया गया है। पुलिस अब सरगर्मी से आरोपियों को तलाश करने में जुटी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button