जबलपुरमध्य प्रदेश

जबलपुर पुलिस फिर बनी मददगार: ड्यूटी के साथ मानवता का फर्ज भी निभा रही खाकी

संजीवनी नगर थाना के पुलिस कर्मियों ने प्लाज्मा डोनेट कर बचाई दो मरीजों की जान

जबलपुर यशभारत। कोरोना काल में पुलिस अहम भूमिका निभा रही है। एक तरफ पुलिस के जवान लोगों को सुरक्षित रखने के लिए लगातार अपनी ड्यूटी में जुटे हैं, तो दूसरी तरफ इस मुश्किल वक्त में पुलिस अपना जज्बा भी दिखा रही है। जबलपुर में पुलिस के जवान ऐसा उदाहरण पेश कर रहे हैं जिसकी हर जगह तारीफ हो रही है। जहां कुछ पुलिसकर्मियों ने अपना प्लाज्मा डोनेट करके के 2 मरीजों की जान बचाई।


यह है पूरा मामला
दरअसल, जबलपुर एक महिला और कटनी जिले के एक पुरुष कोरोना संक्रमित थे, जिन्हें उनके परिजनों ने निजी अस्पताल में भर्ती कराया है। लेकिन इन तीनों मरीजों की हालत अचानक से बिगड़ने लगी। ऐसे में डॉक्टर ने मरीजों के परिजनों से कहा कि प्लाज्मा की जरूरत पड़ेगी। जिसके बाद मरीजों के परिजन रेडक्रॉस पहुंचे. जहां से उन्हें जबलपुर के संजीवनी थाने में पदस्थ आरक्षक नीरज डोंगरे और महिला आरक्षक वर्षा पटेल से संपर्क करने की सलाह दी गई।

 

पुलिसकर्मियों ने डोनेट किया प्लाज्मा
जैसे ही इस बात की जानकारी पुलिसकर्मी नीरज डोंगरे और महिला आरक्षक वर्षा पटेल को लगी तो दोनों ने अस्पताल पहुंचकर अपना प्लाज्मा डोनेट किया, समय से दोनोंं मरीजों को प्लाज्मा मिलने से उनकी जान बच गई। प्लाज्मा डोनेट करने के बाद दोनों पुलिसकर्मियों ने कहा कि इस वक्त कोरोना मरीजों को प्लाज्मा देना बहुत जरूरी है। क्योंकि आपके इस काम से किसी की जान बच सकती है। उन्होंने कहा कि प्लाज्मा डोनेट करने से शरीर में किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होती है। इसलिए प्लाज्मा डोनेट करने से बिल्कुल नहीं डरना चाहिए। इससे कमजोरी नहीं आती और न ही आप संक्रमित होंगे। लेकिन आपके प्लाज्मा डोनेट करने से किसी कोरोना पीड़ितों की जान जरूर बचाई जा सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button