विदेश

चीनी सैनिक को 10 महीने की जेल:बिना वीजा के पर्यटक बन नेपाल के रास्ते भारत में घुसा था

धर्मशाला

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में एडिशनल ज्यूडिशियल कोर्ट देहरा में एक चीनी सैनिक को 10 महीने की सजा सुनाई है। इसके अलावा उस पर 11 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। यह चीनी सैनिक पिछली साल अवैध तरीके से भारत की सीमा में दाखिल हुआ था। पुलिस ने इसे हिमाचल के देहरा से गिरफ्तार किया था। तब इसने खुद को चीनी पर्यटक बताया था।

बुधवार को जज शीतल शर्मा ने चीनी सैनिक को दोषी मानते हुए यह फैसला सुनाया। 8 जुलाई 2020 को चीनी नागरिक लाइ क्सिओदन नेपाल के जरिए भारत की सीमा में दाखिल हुआ था। लाइ क्सिओदन 7 जुलाई को ट्रेन से दिल्ली से चंडीगढ़ फिर किसी तरह ऊना और फिर ऊना के बाद धर्मशाला जा रही HRTC की बस से कालोहा गांव पहुंचा। कलोहा में नाके में तैनात पुलिस कर्मियों ने बस में बैठे यात्रियों की जांच की तो यह चीनी पर्यटक निकला। पुलिस वैरिफिकेशन में उसके पासपोर्ट व वीजा में उसका नाम लाइ क्सिओदन है।

पुलिस जांच में लाइ क्सिओदन पीपल्स लिबरेशन आर्मी का सैनिक निकला था। जांच में सामने आया था कि वह नेपाल के रास्ते से अवैध रूप से भारत में आया था। उसके पासपोर्ट पर इमिग्रेशन की मुहर नहीं थी। वह गैरकानूनी तरीके से भारत में दाखिल हुआ था, इसलिए विदेशी पंजीकरण एक्ट के उल्लंघन के आरोप में उसके खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया था।

ADA रवि कुमार ने कहा कि आज फाइनल सुनवाई के दौरान लाइ क्सिओदन को एसीजीएम शीतल शर्मा की कोर्ट में पेश किया गया। सरकारी वकील की दलीलों पर दोषी चाइनीस टूरिस्ट को 10 माह कारावास और 11 हजार रुपए के जुर्माने की सजा का फैसला सुनाया है। सजा पूरी होने के बाद आरोपी लाइ क्सिओदन को चाइनीज दूतावास के हवाले कर दिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button