देश

कोरोना लापरवाही में 4 एयरलाइंस और 2 अस्पतालों के खिलाफ FIR

नई दिल्ली
कोरोना के बढ़ते मामलों से दिन-प्रतिदिन स्थिति बिगड़ती जा रही है। लोगों को इलाज के लिए अस्पताल में बेड नहीं मिल रहे हैं। इस बीच कोरोना एपप पर बेडों के बारे में गलत डेटा दिखाने के लिए दिल्ली सरकार ने दो निजी अस्पतालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है। उसके खिलाफ डीडीएमए अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी।

वहीं, दूसरी तरफ दिल्ली सरकार ने चार बड़े एयरलाइंस कंपनियों केखिलाफ भी मामला दर्ज करवाया है। दरअसल, दिल्ली सरकार ने इंडिगो, विस्तारा, स्पाइसजेट और एयर एशिया के खिलाफ यात्रियों की कोरोना जांच मे गड़बड़ी को लेकर रिपोर्ट दर्ज करवाई है। सरकार का कहना हे कि महाराष्ट्र से दिल्ली आने वाले यात्रियों की कोरोना जांच में गड़बड़ी पाए जाने पर इन एयरलाइंसों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।
 
दिल्ली में कोरोना हर रोज अपना ही रिकॉर्ड तोड़ रहा है। हालात लगातार बदतर होते जा रहे हैं। इसी बीच रविवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेसवार्ता कर वर्तमान स्थिति के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि दिल्ली में 24 घंटे में लगभग 25,500 मामले सामने आए हैं। संक्रमण दर की रफ्तार बढ़कर करीब 30 प्रतिशत पहुंच गई है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार की ओर से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से राजधानी में बेड बढ़ाने की मांग की है। बताया कि अगले कुछ दिनों में राजधानी को छह हजार ऑक्सीजन बेड मिल जाएंगे। प्रेस वर्ता में मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार को साथ खड़े रहने के लिए शुक्रिया कहने के साथ ही ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने की भी मांग की। उन्होंने कहा कि अभी कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ने की गति जारी है। ज्यादा चिंता की बात यह है कि पॉजिटिविटी रेट 30 प्रतिशत बढ़ गया है।

पिछले 24 घंटे में संक्रमण दर 24 से बढ़कर 30 प्रतिशत हो गया है। कोरोना के लिए जो बेड रिजर्व है वह काफी तेजी से खत्म हो रहे हैं। आईसीयू बेड की दिल्ली में कमी हो गई है। 100 से भी कम आईसीयू बेड खाली हैं। ऑक्सीजन की भी दिल्ली में काफी कमी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक निजी अस्पताल ने शनिवार को बताया था कि उनके पास ऑक्सीजन की कमी है। शनिवार की रात दिल्ली में बड़ी त्रासदी होते-होते बची। केंद्र सरकार से जो मदद मिली है उसका शुक्रिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button