इंदौरग्वालियरजबलपुरभोपालमध्य प्रदेशराज्य

कमलनाथ का शिवराज सरकार पर हमला:सवाल- रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वालों को किसका संरक्षण?

जबलपुर, यशभारत।  मध्य प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर हमला बोला है। उन्होेंने इसके लिए सरकार को कसूरवार ठहराया है। कमलनाथ ने सोशल मीडिया के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सवाल किया है कि जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी करने वालों को किसका संरक्षण है?

कमलनाथ ने सोशल मीडिया पर लिखा- महामारी में मध्यप्रदेश में नए तरीके का माफिया सामने आया है, वो है ‘रेमडेसिविर माफिया’। इसने इस संकट काल में कई लोगों की जानें ली हैं। कई जरुरतमंद लोगों को लूटा है। कई लोगों को ठगा है। कई परिवारों को बर्बाद किया है।

दरअसल, जबलपुर में सिटी हॉस्पिटल के संचालक सरबजीत सिंह मोखा को नकली रेमडेसिविर की कालाबाजारी में लिप्त पाए जाने पर पुलिस ने केस दर्ज किया है, लेकिन आरोपी के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई नहीं की गई। इसे लेकर कमलनाथ ने सरकार पर आरोप लगाए हैं।

कमलनाथ के सवाल का जबाव गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दिया। उनका कहना है, ऑक्सीजन और रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले 87 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। इसमें से 32 लोगों पर एफआईआर दर्ज की जा चुकी है। उन्होंने यह भी कहा है कि सरकार विचार कर रही कि प्रदेश में नकली दवाओं का गोरखधंधा करने वालों के लिए आजीवन कारावास का प्रावधान किया जाए।

मंत्री सिलावट के पुत्र पर लग चुका है आरोप
कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला इंदौर के प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट के पुत्र पर रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने का आरोप लगा चुके हैं। हालांकि सिलावट ने इन आराेपों को सिरे खारिज कर चुके हैं। कमलनाथ ने भी कहा है कि बीजेपी आपदा में अवसर तलाश रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button