जबलपुरमध्य प्रदेश

एक्सक्लूसिव : उपलब्धियां दिखाने मंत्री ने 2 साल पहले लोकार्पित गर्ल्स हॉस्टल का फिर कर दिया लोकार्पण: 2022 में हो चुका है लोकार्पण

 

सागर यश भारत (संभागीय ब्यूरो)/ चुनाव नजदीक आते ही अपने रिपोर्ट कार्ड के फेर में सरकार में बैठे मंत्री भी कितनी हास्यासपद स्थितियां पैदा कर देते हैं इसकी बानगी आज मध्यप्रदेश के इकलौते केंद्रीय विश्वविद्यालय को लेकर देखने को मिली। सागर के डॉ. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय में 2022 में बने सरस्वती कन्या छात्रावास का वर्चुअल लोकर्पण केंद्रीय मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार सहित तीन राज्यमंत्रीयों ने ऑनलाइन बैठकर कर दिया। जबकि इसका विधिवत उद्घाटन 26 अप्रैल 2022 को विवि में ही हो चुका है।

इसकी शिलापट्टिका पर मुख्य अतिथि केंद्रीय शिक्षा राज्यमंत्री अन्नपूर्णा देवी, विशिष्ट अतिथि पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव सहित अन्य के नाम लिखे हैं। वर्तमान में इसमें छात्राएं भी रह रही हैं। अब इसे ही पूरे 22 माह 3 दिन बाद राष्ट्र के नाम समर्पित कर दिया गया है जो जनचर्चा का विषय बना हुआ है।

विश्वविद्यालय प्रशासन ने जारी की लोकार्पण की सूचना

पहले से ही लोकार्पित हो चुके इस छात्रावास के फिर से लोकार्पण किए जाने की सूचना विश्वविद्यालय द्वारा जारी की गई। जिसमें बताया गया कि भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा देशभर के 65 शैक्षणिक संस्थाओं के छात्रावासों का लोकार्पण किया जा रहा है।

मजेदार बात यह है कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा शिक्षा मंत्रालय के अनुदान से बने उक्त कन्या छात्रावास को पूर्व में लोकार्पित किए जाने की सूचना विश्वविद्यालय द्वारा संबंधित मंत्रालय को देने की जानकारी दी गई है। फिर भी लोकार्पण कार्यक्रम में इसे शामिल किया आश्चर्य का विषय है। इससे भी बड़े आश्चर्य की बात तो यह है कि संबंधित विभाग के मंत्री डॉ वीरेंद्र कुमार इसी विश्वविद्यालय के छात्र रहे हैं लेकिन उन्होने भी विश्वविद्यालय के संस्थापक डॉ सर हरीसिंह गौर की गरिमा का ख्याल नहीं रखा।

4/5 - (1 vote)

Related Articles

Back to top button