मध्य प्रदेश

उज्जैन: आर्डी गार्डी अस्पताल में परिजन, पुलिस और मेडिकल स्टाॅफ में मारपीट, पुलिस आरक्षक चोटिल

उज्जैन. मध्य प्रदेश के उज्जैन के निजी मेडिकल कालेज में आज यानि शनिवार को डाक्टरों और परिजन के बीच चल रहे विवाद को सुलझाने पंहुची पुलिस से भिड़ गए, इसके बाद तीनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई. चिमनगंज मंडी थाने के आरक्षक आशुतोष नागर को सिर पर चोट आने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिसकर्मी को सिर पर चार टांके आये हैं. कोरोना संक्रमण काल में इस तरह डाक्टरों मरीज के परिजन और पुलिस के बीच हुए विवाद बेहद शर्मनाक हैं.

दरअसल कोरोना काल में डॉक्टर और पुलिस फ्रंटलाइन वाॅरियर बनकर आम लोगो की सेवा में लगे हैं, विपरीत परिस्थिति में भी मरीजों को बचाने की कोशिश कर रहे हैं, ऐसे में एक शक ने आज आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में विवाद की स्थित पैदा कर दी और हंगामा हो गया. दरअसल आरडी गार्डी के डीन एमके राठौर ने कहा की में उस वक़्त मौजूद नहीं था, जब ये हंगामा हुआ लेकिन डाक्टरों ने बताया की पहले परिजनों ने पीटा और बाद में पुलिस ने भी हमारे साथ मारपीट की है, वहीं उज्जैन एसपी सत्येंद्र शुक्ल ने पूरी घटना क्रम की जांच के बाद ही कुछ कहने की बात कही है. लेकिन उन्होंने माना की पूरे विवाद में एक पुलिसकर्मी घायल हुआ है.

इधर, घटना के कुछ वीडियो सालने आए हैं जिसमें अस्पताल के डाॅक्टर, पुलिस और परिजनों के बीच जमकर मारपीट हो रही है. वहीं जब एक पुलिस कर्मी को सिर पर चोट लगी तो उसके बाद पुलिस ने लाठियां चलाकर सबको भगाया, वीडियो में साफ़ दिख रहा है की पीपीई किट पहने अस्पताल का स्टाॅफ भी मारपीट के लिए आगे आ रहा था. फिलहाल घटना की गंभीरता को देखते हुए भारी पुलिस बल अस्पताल में लगा दिया गया है.

ये है पूरा मामला 

कोरोना संक्रमण इलाज के लिए मेट्रो टॉकीज के पास रहने वाले बंशीलाल खंडेलवाल आरडी गार्डी  अस्पताल में भर्ती हुए थे. जहां पर बीती रात को इनका देहांत हो गया.  बीके खंडेलवाल और अन्य परिजन  जब आज सुबह शनिवार को डेड बॉडी लेने पहुंचे तो मृतक बंसीलाल खंडेलवाल के सिर पर से खून बह रहा था. परिजनों ने इस पर आपत्ति ली, उन्होंने मौजूद डाक्टरों से पूछा की कोरोना से हुए निधन के बाद सिर में से ब्लड क्यों निकल रहा है. इस पर डॉक्टरों और परिजनों के बीच बहस हो गयी. स्टाॅफ ने कहा कि वह गिर गए थे, इसलिए सिर फट गया. इस बात पर  ऐसे में हंगामा और बढ़ गया देखते ही देखते डॉक्टर और परिजनों में मारपीट होने लगी.

विवाद की सुचना मिलने पर थाना चिमनगंज मंडी पुलिस मौके पर पहुंची और विवाद सुलझाने लगी, लेकिन इस बीच डाक्टरों और पुलिस के बीच विवाद हो गया और किसी ने चिमनगंज मंडी के आरक्षक आशुतोष नागर पर हमला कर दिया. जहां आरक्षक घायल हो गया और उसे सिर में चोट आने के बाद 4 टांके लगाने पड़े हैं. इधर विवाद की सुचना पर  मौके पर पंहुचे अपर कलेक्टर सुजान सिंह रावत , एडिशनल एसपी अमरेंद्र सिंह ने  मामले को शांत करवाया हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button