भोपालमध्य प्रदेश

उच्च शिक्षा विभाग : कोरोना संक्रमण को देखते हुए विभाग ने बढ़ाई आवेदन की तिथि

भोपाल
कोरोना संक्रमण तेजी से प्रदेश पर हावी हो रहा है। इसलिए विभाग ने अपनी सभी व्यवस्थाओं को आॅनलाइन करने का निर्णय लिया है। इसके चलते विभाग ने सूबे के सभी बीएड कॉलेजों में प्रवेश कराने संबंधित सभी गतिविधियों को आॅनलाइन कर दिया है।

उच्च शिक्षा विभाग ने बीएड कॉलेजों में प्रवेश कराने की व्यवस्था को शुरू कर दिया है। सूबे में बीएड के करीब 647 कॉलेजों ने एनसीटीई से मान्यता ले रखी है। अभी तक आगामी सत्र 2021-22 में प्रवेश कराने के लिए विभाग तक 512 कॉलेज ही पहुंच सके हैं। करीब 135 कॉलेज काउंसिलिंग में भागीदार नहीं करेंगे। इससे उनकी सीटें सूनी होने पर जीरो प्रवेश रहेगा।

विभाग ने कॉलेजों को आगामी सत्र 2021-22 में प्रवेश कराने आॅनलाइन प्रक्रिया का अपनाते हुए उनसे 15 अप्रैल तक सभी जानकारी पोर्टल के माध्यम से भेजने के निर्देश दिए थे। इसमें प्रदेश 512 कॉलेजों ने ही भागीदारी की है।

अभी भी करीब 135 कॉलेजों ने अपनी तरफ से आगामी सत्र में प्रवेश देने के लिए कोई संकेत नहीं दिए हैं। इसलिए विभाग ने उन्हें 25 अप्रैल तक अपने लॉगिन पासवर्ड से दस्तावेज जमा करने का एक मौका और दिया है। इसके बाद विभाग आगामी सत्र में कालेजों को शामिल करने की प्रक्रिया को पूर्ण करेगा।

अभी तक विभाग कॉलेजों के समस्त प्रकार के दस्तावेजों को देखने के लिए भौतिक तौर पर दस्तावेजों का परीक्षण कमेटी द्वारा कराता था, लेकिन कोरोना संक्रमण को देखते हुए विभाग ने आॅनलाइन प्रक्रिया को अपनाया है। इसके चलते कॉलेजों द्वारा पोर्टल पर दी गई जानकारी को विवि पहले संबद्धता देते हुए ओके करेगा। इसके बाद विभाग कॉलेजों के एनसीटीई से कोर्स की मान्यता और प्रवेश एवं फीस विनियामक समिति द्वारा फीस निर्धारित कराने के पत्र का परीक्षण करेगा। इसके बाद उन्हें काउंसिलिंग में शामिल किया जाएगा।

विभाग की आॅनलाइन काउसंलिंग में प्रदेश के 516 बीएड कॉलेज शामिल हुए थे। विभाग ने उनकी 51 हजार 700 सीटों में प्रवेश कराने दिसंबर तक काउंसलिंग का आयोजन किया था। गत वर्ष भी कई कॉलेज कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रवेश कराने आगे नहीं आए थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button