जबलपुर

आपदा में नगर निगम की सराहनीय पहल: नरसिंहपुर के एक मृतक का कराया अंतिम संस्कार

परिवार के सभी सदस्यों की तबीयत खराब हो जाने के चलते शव लेने नहीं आए परिजन

यशभारत संवाददाता, जबलपुर। कोरोना की भीषण आपदा से सैकड़ों परिवारों पर मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ा है। ऐसे ही एक परिवार में मुखिया से लेकर परिवार के अन्य सदस्यों का स्वास्थ्य भी खराब है। इलाज के दौरान परिवार के मुखिया नरसिंहपुर निवासी सत्यनारायण कौरव का निधन हो गया। परिवार के सभी सदस्यों की तबियत खराब हो जाने के कारण वे शव का अंतिम संस्कार करने में भी असमर्थ थे।

परिवारजनों द्वारा शव का अंतिम संस्कार न कर पाने की सूचना अस्पताल द्वारा निगमायुक्त संदीप जी आर को दी गई। अस्पताल से मिली सूचना पर तत्परता से कार्यवाही करते हुए निगमायुक्त संदीप जी आर ने नगर निगम द्वारा शवों के अंतिम संस्कार के लिए गठित टीम को इसकी सूचना दी और नरसिंहपुर निवासी मृतक का सम्मानपूर्वक अंतिम संस्कार प्रशासन द्वारा चिन्हित स्थल पर किए जाने के लिए निर्देशित किया। उल्लेखनीय है कि निगमायुक्त संदीप जी आर के मार्गदर्शन में कोरोना संक्रमितों एवं संदिग्ध शवों का निरंतर अंतिम संस्कार विधि विधान और सम्मान के साथ चिन्हित मुक्तिधामों में किया जा रहा है।

निगमायुक्त संदीप जी आर ने बताया कि नगर निगम द्वारा कोरोना संक्रमितों एवं संदिग्धों के अंतिम संस्कार के लिए विशेष टीम का गठन किया गया है। उन्होंने कहा है कि जबलपुर के अलावा संभाग के अन्य जिलों से भी जबलपुर में बड़ी संख्या में मरीज इलाज कराने आ रहे हैं एवं नगर निगम अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए सिर्फ जबलपुर ही नहीं आसपास के जिलों से इलाज के लिए आने वाले मरीजों का यदि उपचार के दौरान निधन होता है तो उनका भी शासन द्वारा निर्धारित गाइडलाइन के अनुसार सम्मानपूर्वक विधि विधान से अंत्येष्टि कराई जा रही है।

उक्त शव का आज गुप्तेश्वर मुक्तिधाम में सम्मान के साथ विधि विधान से अंतिम संस्कार किया गया। इसके लिए स्वास्थ्य अधिकारी भूपेंद्र सिंह सहायक आयुक्त प्रफ्फुल गठरे की सराहनीय भूमिका रही साथ ही मनोज रजक कौण्डिया आदि के द्वारा भी जानकी परवाह किए बिना लगातार पुनीत कार्य किया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button