राजनीतिक

अखिलेश यादव ने किया ऑक्सिजन की कमी को लेकर ट्वीट, मंत्री बोले- लोगों को न भड़काएं

यूपी में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच राजनीतिक वार-पलटवार का सिलसिला भी शुरू

लखनऊ
उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच राजनीतिक वार-पलटवार का सिलसिला भी शुरू हो गया है। यूपी के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के प्रदेश में ऑक्सिजन की कमी को लेकर किए गए ट्वीट को अनुचित बताया है। उनका कहना है कि अखिलेश यादव सूबे के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, लेकिन अब वह बयानवीर नेता बन कर गैर जिम्मेदारी वाले ट्वीट कर रहे हैं। एसपी नेता को जिम्मेदारी भरा व्यवहार करते हुए जनता को भड़काने वाले ट्वीट करने से उन्हें बचना चाहिए। करोना महामारी के समय में जनता को भड़काने की बजाय अखिलेश यादव को कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए आगे आना चाहिए।

दरअसल अखिलेश यादव ने मंगलवार को एक ट्वीट कर प्रदेश सरकार पर ऑक्सिजन की उपलब्धता को लेकर झूठ बोलने का आरोप लगाया था। उनके इस आरोप के जवाब में प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना ने बेहद संयमित तरीके से अखिलेश को उनकी जिम्मेदारियों का अहसास कराते हुए कहा है, लोकतंत्र में विपक्ष के नेता का काम सिर्फ सरकार की आलोचना करने का ही नहीं होता है। महामारी के समय सरकार के साथ सहयोग करते हुए विपक्ष को जनता की मदद करनी चाहिए। हाथ पर हाथ रखे हुए घर में बैठकर सिर्फ बयान जारी करने के बचना चाहिए।

अखिलेश यादव पर बोला हमला

एसपी के मुखिया अखिलेश को नसीहत देते हुए सुरेश खन्ना ने कहा कि कोरोना महामारी के दौर में एसपी राजनीति कर रही है। अगर एसपी नेताओं को कोरोना पीड़ितों की इतनी चिंता है प्रदेश की तो आगे आएं और सरकार के प्रयासों में हाथ बटाएं। यूपी सरकार राज्य के 24 करोड़ आम जनमानस के लिए दिन रात प्रयास कर रही है। प्रदेश सरकार ऑक्सिजन की कमी को पूरी करने प्लेन से ऑक्सिजन के टैंकर मंगवाए जा रहे हैं। झारखंड से ऑक्सिजन एक्सप्रेस लगातार सप्लाई कर रही हैं। प्रदेश सरकार ने इस महामारी में जनता को अकेले नहीं छोड़ा है। हर व्यक्ति के इलाज का प्रबंध किया जा रहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button